Oral Cancer Ke Lakshan: लक्षण, रिस्क, निदान, स्टेज, उपचार (2021)

Overview : Oral Cancer Ke Lakshan

Oral Cancer Ke Lakshan : ओरल कैंसर वह कैंसर है जो मुंह या गले के ऊतकों में विकसित होता है. यह कैंसर के एक बड़े समूह से संबंधित है जिसे सिर (Head) और गर्दन (Throat) का कैंसर कहा जाता है, सबसे ज्यादा यह आपके मुंह, जीभ और होंठों में पाए जाने वाले स्क्वैमस कोशिकाओं में विकसित होते हैं.

Oral Cancer ke shuruati lakshan

Oral Cancer Ke Lakshan : लक्षण ओर बचाव

देश में हर साल मुंह के कैंसर के 500000 से अधिक मामले ओरल कैंसर के पाये जाते है जो सबसे ज्यादा 40 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में होता है, मुंह के लिम्फ नोड्स में फैलने के बाद ओरल कैंसर का पता लगाया जा सकता है. जल्दी पता लगाने से मुंह के कैंसर से काफी हद तक बचा जा सकता है (Recovery). इसिलिय आप इसके बारे में विस्तार से जाने की Oral Cancer Ke Lakshan क्या होते है और इसका उपचार कैसे कर सकते है.

Oral Cancer Ke Types

1. Tounge (जीभ)
2. Lips (होंठ)
3. Internal Chik (अंदर गाल की तरफ)
4. Hard Plate (उपर का कठोर हिस्सा)
5. Gums (मसूड़ा)
6. Soft Plate (मुलायम हिस्सा)

Mouth कैंसर की सबसे पहले पहचान करने वाला Dentist (दंत रोग विशेषज्ञ) होता है जो कि Oral Cancer Ke Shuruati Lakshan ( शुरुआती लक्षण ) के बारे में पहचान करके आपको जानकारी दे सकता है इसीलिये महीने में या 3 महीने में एक बार Dentist के पास अपना cheakup जरूर कराये.

Risk Factors : Oral Cancer को बढ़ावा देने वाले कारक

Oral Cancer को फ़ैलाने वाले या उसको बढ़ावा देने वाले कारको के बारे के जानना बहुत आवश्यक है इनको जानने के बाद हम कैंसर को विकसित होने से रोक सकते है या उसकी Growth को काफी हद तक खत्म कर सकते है.

Tobacco (तंबाकू)
Week Immune System
HPV (Human Paplioma Virus)
Sun एक्सपोज़र (सुर्य की किरण)
Genetic Syndrome
Poor Nutrition (खानपान)
Family History

WHO की एक Report ओर Survey में पाया गया है कि तंबाकू ओर Alcohal का सेवन करने वाले लोगो मे Oral Cancer सबसे ज्यादा पाया गया है, जो लोग इसका इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा करते है उनमें Oral Cancer के Chance 99℅ बढ़ जाते है.

Oral Cancer Ke Shuruati Lakshan : शुरुआती लक्षण

Mouth Ulcer ( मुँह में छाले )
Weight Loss ( वजन कम होना )
Pain ( हल्का दर्द महसूस होना )
Tounge Moment ( जीभ का कम काम करना )
Gums Bleeding ( मसूड़ो से खून )

Mouth Cancer Ke Shuruati Lakshan में ये लक्षण शामिल है जो संकेत करते है कि आपके Oral Cancer हो सकता है लेकिन ये पूरी तरीक़े से पुष्टि नही करते है.

Oral Cancer Ke Lakshan

Sore/Canker लम्बे समय तक
मुँह में मास का बढ़ जाना
मुँह से Blood निकलना
Loss Teeth
दर्द होना
निगलने में कठिनाई
गर्दन में दर्द
Numbness
Weight Loss
थकान महसूस होना
जीभ का कम काम करना
मुँह का कम खुलना
कान के आसपास दर्द होना

Oral cancer ke lakshan
Oral Cancer Ke Lakshan

अगर आपको ऐसे लक्षण दिखाई देते है तो जितना जल्दी हो सके एक अच्छे Dentist या Doctor के पास जाकर अपना Cheakup कराये क्योकि शुरुआती लक्षण में काफी हद तक Oral Cancer से बचा जा सकते है.

Oral Cancer Diagnosis : Oral Cancer Ka Kaise Pata Kare

Mouth या Oral कैंसर का पता लगाने के लिए Dentist या डॉक्टर आपके मुँह का Physical Examination यानी कि शारारिक परीक्षण करते है जिसमे आपके : होंठ, जीभ, अंदर गाल की सतह, मुँह के ऊपर ओर नीचे वाली परत, गले और लिम्फ का आवश्यक Cheakup करते है और अगर इससे संबंधित लक्षण पाये जानते है आपको कैंसर का पता लग जाता है.

अगर मुँह के किसी भी हिस्से में Tumor यानी गाँठ Type लगता है तो Doctor Cancer का पता लगाने के लिए biopsy करता है ( Biopsy Meaning उस Tumor का कुछ हिस्सा लेके जाँच करते है कि ये Cancer Cells है या नही ).

इसके अलावा भी Doctor ओर भी Test करा सकते है जैसे :

X-ray : Xray के जरिये ये पता लगा सकते है कि Cancer Cells कितने हिस्से को Cover कर रखी है, एक या एक से अधिक हिस्से को Cover करने का पता Xray के माध्यम से किया जाता है.

CT Scan : CT Scan के माध्यम से Body के किसी भी हिस्से में फैले Cancer का आसानी से पता लगाया जा सकता है जैसे : Mouth, Throat, Lungs Etc

MRI : MRI Cancer वाले हिस्से का पता करने का सबसे Accurate तरीका है जिसमे image के माध्यम से आसानी से Find कर सकते है.

Endoscopy : एंडोस्कोपी गले और अंदर के Body Parts में होने वाली Problems को आसानी से Find Out करने में मदद करती है. इसके लिए मुँह से गले से होते हुए एक Wind Pipe डालते है जिसके सिरे पे एक कैमरा लगा होता है जिसकी मदद से अंदर की सरंचना का आसानी से पता लगा लेते है.

Proning in Hindi : Proning Kaise Kare (Step By Step 2021)

Stage Of Oral Cancer : Oral Cancer Ki Stage

ओरल कैंसर की 4 स्टेज होती है:

Stage 1 : इसके अंदर Tumor का Size 2 सेंटीमीटर का होता है ओर ये Lymph Node को Cover नही करता है.

Stage 2 : इसमे Tumor का Size 2-4 सेंटीमीटर का होता है और इस स्टेज में भी Lmyph Node का Involment नही होता है.

Stage 3 : इसमे Tumor का Size 4 सेंटीमीटर से ज्यादा होता है और इसके साथ साथ ये Lymph Node को भी घेर लेता है.

Stage 4 : इसमे Tumor Groups में होता है और किसी भी Size का हो सकता है लेकिन इसमें Lymph Node के अलावा Throat, Lungs इन सबको घेर लेता है.

इसके अलावा National Cancer Institute के According कैंसर को अलग Cetegory में बांटा गया है:

83℅ : Local Cancer होता है जो Sprade नही होता है.

64% : इसमे अंदर Lymph Node का हिस्सा भी शामिल होता है.

38% : इसके अदंर Body के दूसरे Organ भी शामिल हो जाते है ये सबसे खतरनाक होता है.

अगर Oral Cancer को जल्दी पहचान लिया जाता है तो 50 to 60℅ लोग 5-6 Year Survive कर सकते है.

Oral Cancer Ka Treatment

Oral Cancer का Treatment बहुत चीज़ों के ऊपर Depend करता है जैसे : Stage, Body Parts, Location Etc ले ऊपर ओर उसी प्रकार से उसका उपचार किया जाता है.

Surgery

Cancer Ke Shuruati Lakshan या पहली स्टेज में ट्यूमर ओर उसके आसपास फैले Lymph Node को Surgery के माध्यम से हटाया दिया जाता है, इसके अलावा गले और मुँह के किसी भी हिस्से में फैली Cancerous Cells को Surgery के द्वारा आसानी से Remove किया जा सकता है.

Radiation Tharepy

Cancer Cells को Damage करने का या उनको जड से खत्म करने का ये भी ये कारगर तरीका है, ये कैंसर के ज्यादा फैलने में उपयोग में किया जाता है. इसके अंदर डॉक्टर कैंसर सेल्स के ऊपर Radition Blem का उपयोग करके उनको नष्ठ कर देता है इसको दिन में अधिकतम 3 बार ओर सप्ताह में 5 उपयोग में लिया जाता है.

Chemotherapy

Chemotherapy के अंदर Drugs के द्वारा Cancer Cells का खात्मा किया जाता है जो की कैंसर Cells को Kill करने का काम करती है. इसके अंदर कैंसर वाले इंसान को Orally ( मुँह के द्वारा ) ओर Intera Venous ( Direct Blood ) Route के माध्यम से Drugs दी जाती है, काफी बार Patient को हॉस्पिटल में ही Admit करके Chemotharepy दी जाती है.

Targeted Tharepy

Targeted Tharepy का उपयोग Cancer की Advance ओर Last Stage में किया जाता है जिसके अंदर Protien Drugs दी जाती है जो कि Cancer Calls के ऊपर Atteck करके उसकी Growth को रोकती है.

Nutrition

Oral Cancer में Porper Nutrition का लेना बहुत ज्यादा जरूरी है, शुरुआती लक्षण के आपके शरीर का वजन कम हो जाता है ओर कमजोरी महूसस होने लगती है इसीलिए डॉक्टर आपको अच्छी Deit लेने की सलाह देते है.

Keep Mouth Healthy : मुँह को अंदर से साफ रखें

मुँह को साफ रखना बहुत ज्यादा जरूरी होता है और उस समय तो बहुत ज्यादा जरूरी होता है जब आप ऐसी प्रॉब्लम से काफी झूझ रहे हो इसीलिए अपने दांत ओर मसूड़ो की अच्छे तरीके से सफाई रखे.

Note : Cancer Treatment में दी जाने वाली Tharepy के कुछ Side Effects भी होते है तो उनके बारे में भी जानना बहुत जरूरी है.

Radiation Tharepy Ke Side Effects

मुँह में अलसर बन जाना
मुँह का सुख जाना
खाने का स्वाद नही आना
जी मिचलाना
उल्टी आना
त्वचा और मुँह में इंफेक्शन
थकान
दांतो में दर्द

Chemotherapy Ke Side Effects

Chemotharpy में Drugs दी जाती है और ये Drugs हमारी Body के अंदर जाके Toxicity करती है जिसके कारण काफी Side Effect देखने को मिलते है.

Hair Loss (बाल उड़ जाना)
Gums Pain (मसूड़ो में दर्द)
Fattigue (थकान)
Anorexia (बूख नही लगना)
Diarreha (दस्त)
Vmetting (उल्टी)
Severe Anemia (खून की कमी)

Recovery

Surgery या Chemotharepy लेने के बाद आपको खाने पीने और बोलने ( Speaking ) का सबसे ज्यादा ध्यान रखना है, doctor की सलाह से आपको Speech Tharepy लेनी है जिससे आपको धीरे धीरे बोलने की आदत डालनी है.

Leave a Comment